For the best experience, open
https://m.doonprimenews.com
on your mobile browser.
Advertisement

रूखे, बेजान बालों को मजबूत बनाने का वादा करने वाले बाजार में बिक रहे ब्रैंडेड और महंगे शैंपू जानिए कैसे आपकी सेहत के साथ खिलवाड़ कर रहे है .

08:14 PM Oct 27, 2022 IST | doonprimenews
रूखे  बेजान बालों को मजबूत बनाने का वादा करने वाले बाजार में बिक रहे ब्रैंडेड और महंगे शैंपू जानिए कैसे आपकी सेहत के साथ खिलवाड़ कर रहे है
Advertisement

रूखे, बेजान, पतले और झड़ते बालों को मजबूत, चमकीला और मुलायम बनाने का वादा करने वाले बाजार में बिक रहे ब्रैंडेड और महंगे शैंपू किस तरह आपकी सेहत के साथ खिलवाड़ करते हैं। जिसका हाल ही में भांडाफोड़ किया गया है। खबर है कि यूनिलीवर ने शैम्पू बनाने Tresemme और Dove जैसे ड्राइड शैंपू बनाने वाले कई महंगे ब्रैंडेड शैंपू मार्केट में वापस मंगाए हैं।

ET की रिपोर्ट के मुताबिक बताया गया है कि Dove,Nexxus, Suave, Tigi और Tresemme में जैसे ब्रैंड के ड्राइव शैम्पू में बेज़ीन (Benzene) नामक खतरनाक केमिकल पाया गया है। इससे खून का कैंसर यानी Blood Cancer होने का खतरा है जिसे मेडिकल भाषा में ल्यूकेमिया(Leukemia) भी कहा जाता है यूनिलीवर ने अक्टूबर 2021 से पहले बनाए गए सभी प्रोडक्ट्स को वापस मंगाया।

Advertisement

चलिए हम आपको बताते है की किस तरह के शैंपू में ऐसे कौन से केमिकल इस्तेमाल किए जाते हैं जो आपके शरीर में Cancer को पैदा कर सकते हैं। एक रिपोर्ट में यह भी पता चला है कि जो केमिकल इस तरह के शैंपू में पाया जाता है वो खाने की कुछ चीजों से भी पाया जाता है। यानी उनके सेवन से भी आपको Blood Cancer हो सकता है।

Advertisement

Blood Cancer का खतरा?
नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट की रिपोर्ट के मुताबिक, बेजीने(Benzene) एक ऐसा केमिकल होता है जिससे वयस्कों में अक्यूट माइलोइड ल्यूकेमिया (Leukemia) सहित एक्यूट नॉन- लिम्फोसाइटिक ल्यूकेमिया(Leukemia) का कारण बन सकता है।

Advertisement

बेंजीन(Benzene) केमिकल है Cancer की जड़
ड्राइड शैम्पू का बालों को गीला किए बिना पाउडर का स्प्रे के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। ऐसा माना जाता है कि बेंजीन(Benzene) के साथ ज्यादा संपर्क में आने से ल्यूकेमिया(Leukemia) और अन्य Blood Cancer हो सकते हैं।

Advertisement

बेंजीन से Cancer होने की कितनी संभावना?
Drugwatch की एक रिपोर्ट के अनुसार, अध्ययन से पता चला है कि जब बेजीन(Benzene) के संपर्क में आने से कुछ Cancer का खतरा 40% तक बढ़ जाता है। शोध से पता चला है कि इससे कम संपर्क में आने से भी ल्यूकेमिया(Leukemia) का जोखिम बढ़ सकता है।

यह भी पढ़े – नीदरलैंड के खिलाफ मैच जीती टीम इंडिया, जीत के बाद नाखुश दिखाई दिए रोहित शर्मा किया यह चौंकाने वाला बड़ा खुलासा

बेंजीन(Benzene) किस प्रकार के कैंसर का कारण बनता है?
cancer.org की रिपोर्ट के मुताबिक बेंजीन(Benzene) को इंसानों के लिए Cancer पैदा करने वाला केमिकल माना गया है। यह एक एक्यूट मायलोइड ल्यूकेमिया(Leukemia) का कारण बनता है। बेंजीन(Benzene) के संपर्क में आने से एक्यूट लिम्फोसाइटिक ल्यूकेमिया(Leukemia) कोर्निक लिम्फोसाइटिक ल्यूकेमिया, मल्टीप्ल मायलोमा और गैर- हौजकिन लिंफोमा जैसे कैंसर भी होने का जोखिम है।

खाने की चीजों में भी पाया जाता है बेंजीन(Benzene)
IJFS की रिपोर्ट के मुताबिक कुछ प्रोडक्ट्स फूड जैसे ऑर्गन मीट, चिकन, मछली, मूंगफली, आलू, वनस्पति तेल, फल, पनीर, अंडे और जैतून में भी यह तत्व पाए जाते हैं। यही वजह है कि एक्सपर्ट इस तरह के खाद्य पदार्थों के अधिक सेवन से बचने की सलाह देता है।

Advertisement
उत्तराखंड, देश और दुनियां की तमाम बड़ी खबरों के लिए हमारे facebook page से जुड़ने के लिए यहां click करे और हमारे whatsapp group से जुड़ने के लिए यहां click kare
Advertisement
×